जन अधिकार पार्टी (लो०) के राज्‍य स्‍तरीय कार्यकर्ता बैठक के दौरान प्रेस वार्ता ।

माननीय सांसद पप्पू यादव जी ने कहा की कमजोर, अपमानित और भय के वातावरण में जीने वाले मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को अपने पद से इस्‍तीफा दे देना चाहिए। लालू यादव व नीतीश कुमार दोनों एक-दूसरे को डराकर महागठबंधन की सरकार चला रहे हैं। महागठबंधन सरकार में शिक्षा और स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था पूरी तरह चौपट हो गयी है। सत्‍ता संरक्षित अपराधी सरकार चला रहे हैं। आज पटना में जन अधिकार पार्टी (लो०) की प्रदेश स्‍तरीय कार्यकर्ता सम्‍मेलन के दौरान सांसद पप्पू यादव जी ने पत्रकारों से चर्चा में कहा कि दोनों भाइयों ने सत्‍ता, कुर्सी और वोट के लिए 12 करोड़ लोगों की जिदंगी तबाह कर दी है। सरकार पर से लोगों का विश्‍वास उठ गया है।

हमने कहा कि सुशासन, सात निश्‍चय और शराबबंदी सभी फेल हो गये हैं। नीतीश कुमार मुखिया के अधिकारों में कटौती कर रहे हैं। यह उचित नहीं है। सरकार वार्ड सदस्‍य, पंचायत समिति सदस्‍य, जिला परिषद सदस्‍य को अधिकार दे, लेकिन मुखिया के अधिकारों की कटौती को जायज नहीं ठहराया जा सकता है। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार बेईमान और बेनामी संपत्ति वालों को बचा रहे हैं। विपक्ष की आवाज को दबाने की कोशिश की जा रही है। सांसद पप्पू यादव जी ने कहा कि यदि लालू यादव ने कोई अपराध नहीं किया है तो उन्‍हें कानून से नहीं डरना चाहिए। जेल जाने का भय उनके अंदर नहीं होना चाहिए। लालू यादव ने अपने राजनीतिक जीवन में सिर्फ दलितों को अपमानित किया है। दलितों को कभी सम्‍मान नहीं दिया।

प्रेस वार्ता के दौरान ही बड़ी संख्‍या राजद, जदयू, रालोसपा और लोजपा ने कार्यकर्ताओं ने जन अधिकार पार्टी (लो) की सदस्‍यता ग्रहण की। सांसद पप्पू यादव जी ने उन सभी का स्‍वागत करते हुए कहा कि पार्टी उनके सामाजिक और राजनीतिक हित और सम्‍मान का पूरा ख्‍याल रखेगी।

Check Also

उमा भारती और लालकृष्ण आडवाणी पर चार्टशीट है  वहां पर नैतिकता कहां गई

🔊 Listen to this रिपोर्ट   अतिश दीपंकर आदर्श आचार एवं विचार से ही व्यक्ति …